सेंट विल्फ्रेड काॅलेज ने फिर रचा इतिहास, नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क 2020 में शामिल

जयपुर। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने भारतीय शैक्षणिक संस्थानों की एनआईआरएफ रैंकिंग 2020 जारी कर दी। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने देश के महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों की रैंकिंग जारी की। राजस्थान के सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थानों में शुमार सेंट विल्फ्रेड्स काॅलेज ने राष्ट्रीय रैंकिंग (एनआईआरएफ) की टाॅप 200 की सूची में आकर फिर सें एक नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है। सेंट विल्फ्रेड्स काॅलेज ने आर्टस, काॅमर्स, साइंस एवं बी.सी.ए. चारों श्रेत्र में उत्कृष्ट अकादमिक रिकाॅर्ड, प्लेसमेंट, टीचिंग मैथेडोलोजी, एक्सीलेण्ट रिजल्ट, क्वालिटी आफ फैकल्टी, इन्फा्रस्ट्रक्चर, अनुशासन एवं अपनी स्ट्रांग छवि के फलस्वरूप ही यह मुकाम हासिल किया है।

सेंट विल्फ्रेड एजुकेशन सोसायटी के मानद सचिव डाॅ.केशव बड़ाया ने बताया कि पिछले वर्ष भी हमारा संस्थान एनआईआरएफ की टाॅप 200 की सूची में शामिल था और इस वर्ष भी हमें ये रैकिंग इन सभी रिकाॅर्ड के साथ ही अनवरत एवं अथक परिश्रम, विद्यार्थियों का सम्पूर्ण सर्वांगीण विकास, राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय सेमिनार, विदेशी विद्यार्थियों का रूझान, काॅ-करीकुलर एक्टिविटिज के कारण यह काॅलेज अन्य काॅलेजों से बेहतर साबित करनें में मदद मिली। इसी की बदौलत भारत में पूर्व से पश्चिम तक एवं उत्तर से दक्षिण तक तक चाहे दिल्ली, मुम्बई, चैन्नई, बैंगलोर, कोलकाता सभी के काॅलेजों के बीच अपनी पहचान बनाकर शिक्षा के जगत् में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

इनके फलस्वरूप पूरे राजस्थान के बच्चों की क्वालिटी एजुकेशन हेतु राजस्थान से बाहर जाने की बहुत बडी समस्या का समाधान करते हुये एक बेहतरीन विकल्प उपलब्ध कराया है। गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय की उच्च शिक्षण संस्थानों की राष्ट्रीय रैंकिंग (एनआईआरएफ) द्वारा काॅलेज को दी गई इस उपलब्धि से काॅलेज विद्यार्थियों के साथ साथ फैकल्टीज में सकारात्मक संदेश गया है तथा काॅलेज नें भविष्य में इससें भी बडी रैंक हासिल करने की अपनी प्रतिबद्धता पर स्ट्राॅगली जोर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *